Home व्रत और त्यौहार Vat Savitri Vrat 2019 Date, वट सावित्री व्रत 2019, जानें महत्व एवं...

Vat Savitri Vrat 2019 Date, वट सावित्री व्रत 2019, जानें महत्व एवं पूजा विधि हिंदी में

698
0
SHARE

Vat Savitri Vrat 2019 Date Puja Time, वट सावित्री व्रत 2019 कब है

vat savitri vrat 2019, vat savitri vrat 2019 date, var puja, vat savitri, vat savitri puja vidhi, वट सावित्री व्रत 2019 कब है, वट सावित्री व्रत, वर पूजा 2019, वट सावित्री पूजा 2019, vat savitri date time, vat savitri puja 2019 date

Vat Savitri Vrat 2019 : वट सावित्री व्रत हिन्दू धर्म के विशेष व्रतों में से हैं| जिसे सुहागन महिलायें अपने पति की लम्बी उम्र के लिए करती हैं, और जिन महिलाओं को संतान सुख नहीं हैं वो भी इस व्रत को पूरी श्रद्धा से कर संतान सुख का आशीर्वाद प्राप्त करती हैं| यह व्रत जयेष्ट कृष्ण अमावस्या को मनाया जाता हैं| इस दिन सुहागन महिलायें वट वृक्ष यानी बरगद के पेड़ की पूजा करती हैं| इसे वरदगाई पूजा के नाम से भी जाना जाता हैं|

वट सावित्री व्रत का महत्व (Importance of Vat Savitri Vrat)

वट सावित्री पूजा का सुहागन महिलाओं के लिए बहुत महत्व हैं| इसदिन सुहागन महिलायें अपने सुखद वैवाहिक जीवन की कामना के लिए वट वृक्ष की पूजा करती हैं| ऐसा कहा जाता हैं कि वट सावित्री वाले दिन सावित्री अपने पति सत्यवान के प्राण यमराज से पुनः वापस ले आयी थी तभी से इस दिन को वट सावित्री व्रत के रूप में पति की लम्बी आयु के लिए मनाया जाता हैं|

क्यों की जाती है वट वृक्ष की पूजा 

इस व्रत में बरगद के पेड़ का बहुत महत्व हैं| बरगद के वृक्ष में त्रिदेव यानी ब्रहमा,विष्णु और महेश का वास होता हैं| बरगद के वृक्ष में अनेक शाखाएँ लटकी होती हैं, इन्हे सावित्री का रूप माना जाता हैं| इसलिए इसदिन इस वृक्ष की पूजा करने से सौभाग्य और संतान की प्राप्ति होती हैं और सभी मनोकामना पूर्ण होती हैं|

वट सावित्री व्रत कब है 2019 (Vat Savitri Vrat 2019 Date)

वट सावित्री पूजा कृष्ण पक्ष ज्येष्ठ अमावस्या तिथि को मनाई जाती है| कुछ लोग इसे वर पूजा, बड़ अमावस व बरगदाई पूजा भी कहते है| इस साल वट सावित्री पूजा का त्यौहार 3 जून को मनाया जायेगा|

वट सावित्री व्रत पूजन विधि (Vat Savitri Vrat Pujan Vidhi)

वट सावित्री की पूजा के लिए विवाहित महिलाओं को बरगद के पेड़ के नीचे जाकर विधिवत पूजा करनी चाहिए| प्रातः काल उठकर स्नान आदि करके निर्जल रहकर वट सावित्री व्रत का संकल्प करें| इस व्रत में महिलाओं को पूजा के समय एक नयी नवेली दुल्हन की तरह सोलह शृंगार करके सजना चाहिए| फिर पूजा की थाली लगाए जिसमें कुमकुम, रोली, मौली, फूल, पान का पत्ता और सिजनी फल जैसे खरबूजा आदि गुड़, भीगे चने,घर पर बने आटे की मिठाई, हाथ वाला पंखा, कच्चा सूत, धूप, घी का दीपक और एक लोटे में जल लेकर बरगद के पेड़ के नीचे जाना चाहिए| फिर बरगद के पेड़ की जड़ में जल चढ़ाये फिर कुमकुम, रोली लगाए फिर फल, फूल चढ़ाकर भोग लगाए, तत्पचायत धूप दीप जलाये और  सच्चे मन से पूजा करके अपने पति की लम्बी उम्र और अच्छे स्वास्थ की कामना करें| पंखे से वट वृक्ष को हवा करें और सावित्री का आशीर्वाद लें ताकि आपके पति दीघार्यु हो फिर कच्चा सूत लेकर वट वृक्ष की परिक्रमा करते हुए सूत को बरगद के तने से लपेटे और बरगद के वृक्ष की कम से कम सात बार परिक्रमा अवश्य करें| फिर भीगे हुए चने के साथ कुछ धन या वस्त्र लेकर अपनी सास को भेंट देकर उनका आशीर्वाद ले, फिर वट वृक्ष की कोपल खाकर उपवास को समाप्त करें|

वट सावित्री व्रत शुभ मुहूर्त 2019 (Vat Savitri Vrat Shubh Muhurat 2019)

वट सावित्री व्रत 2019 (Vat Savitri Vrat 2019 Date) : 3 जून 2019 दिन सोमवार

ज्येष्ठ अमावस्या का प्रारम्भ : 2 जून 2019 दिन रविवार को 16 : 39 बजे

ज्येष्ठ अमावस्या का समापन : 3 जून 2019 दिन सोमवार को 15 : 31 बजे

आशा है कि आप सभी को यह Vat Savitri Vrat 2019, Vat Savitri Vrat 2019 Date, Vat Savitri Puja Muhurat, Vat Savitri Pujan Vidhi का लेख पसंद आया होगा| इस आर्टिकल को अधिक से अधिक फेसबुक और व्हाट्सप्प पर शेयर करें और आपका कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट करके अवश्य बताये| इसी तरह के पोस्ट पढ़ने के लिए हमें सब्सक्राइब करें|

अन्य पढ़े :-

2019 सावन शिवरात्रि कब है, जानें व्रत का महत्व और शुभ मुहूर्त

Holidays List 2019 : उत्तर प्रदेश सरकार ने जारी की 2019 की छुट्टियों की लिस्ट

Grahan 2019 : साल 2019 में कब और कितने ग्रहण होंगे, पूरी जानकारी

Happy Eid Mubarak Wishes, Quotes, Greetings, Status, HD Images

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here