Home ज्योतिष उपाय नाग पंचमी सिर्फ 2 चम्मच दूध से घर में करें ये उपाय,...

नाग पंचमी सिर्फ 2 चम्मच दूध से घर में करें ये उपाय, बिना मांगे हर मनोकामना होगी पूरी | Nag Panchami ke Upay

182
0
SHARE

नाग पंचमी सिर्फ 2 चम्मच दूध से घर में करें ये उपाय, बिना मांगे हर मनोकामना होगी पूरी | Nag Panchami ke Upay

nag panchami,nag devta, nag panchami ke totke,nag panchami ke upay, kaal sarp dosh,naag panchami,naag devta, naag panchami ke totke,naag panchami ke upay,नाग पंचमी,नाग देवता,नाग पंचमी के टोटके,नाग पंचमी के उपाय,काल सर्प दोष

Nag Panchami ke Upay : सावन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी का पर्व मनाया जाता हैं और इस दिन लोग नाग देवता की पूजा करते हैं| ऐसे में इस दिन आप कुछ उपाय कर सकते हैं जिसको करने से आपके घर में धन की कभी कमी नहीं होगी| आइए जानते हैं कि नाग पंचमी के दिन कौन से उपायों को करना चाहिए –

धन प्राप्ति के लिए उपाय :-

नाग पंचमी के दिन सबसे पहले नाग देवता की पूजा कर ले और पूजा करने के लिए हल्दी, रोली, चावल, फूल आदि का इस्तेमाल करे| वहीं अगर आपने रात में चने भिगो के रखे हैं या फिर ऐसे ही चने, बताशे और कच्चा दूध प्रतिकात्मक रूप से अर्पित करे| इसी के साथ अगर आपके यहाँ साँप नहीं हैं या फिर नाग देवता की कोई मंदिर नहीं हैं तो आप गाय के गोबर से नाग देवता की तस्वीर बना ले और इसकी पूजा करे| कहते हैं ऐसा करने से आर्थिक लाभ होता हैं, धन आने के नए-नए रास्ते बनते हैं| इसी के साथ आप एक तांबे का लोटा ले, लोटे में थोड़ा सा गंगा जल ले तथा एक कटोरी में दूध ले| उसके बाद ‘ॐ कुरु कुल्ले फट स्वाहा’ मंत्र का जाप करते हुये पूरे घर में दूध और गंगा जल का छिड़काव करे, ऐसा करने से आपके परिवार वालों को नाग देवता का आशीर्वाद मिलता हैं| इसी के साथ भगवान शिव की कृपा भी प्राप्त होती हैं.

कुंडली दोष दूर करने के उपाय :-

अगर आप राहू, केतू या फिर किसी दोषों से ग्रसित हैं तो आप एक रस्सी ले और इसमें सात गाँठी लगा ले, अर्थात यह एक साँप का प्रतिकात्मक रूप हैं, यदि रस्सी गांठ लगाने लायक नहीं हैं तो आप ऐसे ही ले, अब इसके मुख को काजल या कोयले से काला कर ले| अब उसके बाद इसे किसी लकड़ी के पट्टे या चौकी पर विराजमान कर ले और अब इस पर थोड़ा सा कच्चा दूध, बताशा, शक्कर, फूल और तिलक करे| अब उसके बाद राहू और केतू के मंत्र का जाप करे, अब भगवान शिव को स्मरण करते हुये गांठों को खोल दे| इसके बाद दूध जो आने पूजा में चढ़ाया था, उसे लेकर, गंगा जल मिलाकर पूरे घर में छिड़काव कर दे| इसके बाद उस रस्सी को किसी गंगा जल में प्रवाहित कर दे, या फिर इसे मिट्टी खोदकर दबा दें| कहते हैं इससे कालसर्प दोष नष्ट हो जाता है और राहु केतु भी शांत होते है|

शत्रु बाधा और भय समाप्ति के उपाय :-

आपको नाग पंचमी के दिन सुबह जल्दी जग कर नित्य कर्म से निवृत होकर भगवान शिव जी के मंदिर में जाये और वंहा जाकर जल में थोडा कच्चा दूध मिलाकर शिवलिंग का अभिषेक करें| उसके बाद वंहा बैठकर “ॐ नम: शिवाय” मंत्र की एक माला का जाप करें| इसके बाद अपने घर पर आकर किसी धातु से बना हुआ नाग ले या आप एक सफ़ेद कागज पर नाग का चित्र बना लें| उसके बाद सिंदूर से रंगे हुए चावल पर स्थापित कर दें और नाग के सामने एक पात्र में दूध रख दें| उसके बाद नाग देवता को ध्यान करते हुए सिंदूर लगाये व् खुद भी तिलक करें और प्रार्थना करें कि मेरा समस्त भय व् बाधा समाप्त कर दें| उसके बाद ॐ कुरु कुल्ले फट स्वाहा” मंत्र का 27, 54 या 108 बार जाप करें और उसके बाद वापस से “ॐ नम: शिवाय” मंत्र की एक माला का जाप करें| ऐसा करने से आपके शत्रु आपके सामने निर्बल होने लग जायेगें व आपका सारा भय व् बाधा समाप्त हो जायेगा| पूजन के बाद रखा हुआ दूध आप प्रसाद के रूप में ग्रहण कर लें|

काल सर्प दोष दूर करने के उपाय :-

जिस भी जातक की कुंडली में कालसर्प दोष है वह जातक नागपंचमी वाले दिन श्रेष्ठ मुहूर्त में किसी बहती हुई या पवित्र नदी के पास जाकर अपने इष्टदेव को याद करते हुए गाय का दूध प्रवाहित कर दें|उसके बाद अपने इष्ट देव से कालसर्प दोष से हो रही परेशानी से मुक्ति पाने की प्रार्थना करें व वही बैठकर नव नाग स्तोत्र का पाठ करें| ऐसा करने से जातक को कालसर्प से हो रही परेशानी से मुक्ति मिल जाएगी|

आशा है कि आप सभी को यह नाग पंचमी के उपाय, Nag Panchami ke Upay का लेख पसंद आया होगा| इस आर्टिकल को अधिक से अधिक फेसबुक और व्हाट्सप्प पर शेयर करें और आपका कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट करके अवश्य बताये| इसी तरह के पोस्ट पढ़ने के लिए हमें सब्सक्राइब करें|

अन्य पढ़े :-

नाग पंचमी की पौराणिक कथा | Nag Panchami Ki Katha

Tulsi Vivah Katha | तुलसी विवाह कथा

करवा चौथ व्रत की सम्पूर्ण पूजन विधि

पूजा में आरती करने की सही विधि, Aarti Kaise Kare

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here