Home व्रत और त्यौहार जीवित्पुत्रिका 2020 तारीख, पूजा का शुभ मुहूर्त | Jivitputrika Vrat 2020 Date

जीवित्पुत्रिका 2020 तारीख, पूजा का शुभ मुहूर्त | Jivitputrika Vrat 2020 Date

284
0
SHARE

जीवित्पुत्रिका 2020 तारीख, पूजा का शुभ मुहूर्त | Jivitputrika Vrat 2020 Date

	jimutvahan, jitiya vrat, Jivitputrika Vrat, Jivitputrika Vrat 2020, Jivitputrika Vrat 2020 Date, Jivitputrika Vrat 2020 Time, jutiya vrat, khur jitiya, खुर जितिया, जितिया व्रत, जीमूतवाहन, जीवित्पुत्रिका 2020, जीवित्पुत्रिका 2020 तारीख, जीवित्पुत्रिका 2020 तारीख पूजा का शुभ मुहूर्त, पूजा, शुभ मुहूर्त

Jivitputrika Vrat 2020 Date :- जीवित्पुत्रिका या जितिया व्रत हिन्दू धर्म में बड़ी श्रद्धा और विश्वास के साथ मनाया जाता हैं| जो अपनी संतान की मंगल कामना के लिए किया जाता हैं| इस दिन निर्जला उपवास किया जाता हैं| इसे खुर जितिया भी कहा जाता है। इसे तीन दिन तक मनाया जाता हैं| इस व्रत को माताए अपनी संतान के उज्जवल भविष्य और लम्बी आयु के लिए रखती हैं| हिन्दू पंचांग के अनुसार यह व्रत आश्विन माह के कृष्ण पक्ष की सप्तमी से नवमी तिथि तक मनाया जाता हैं| जिसमे पहले दिन नहाये खाये, दूसरे दिन निर्जला व्रत तथा तीसरे दिन व्रत का पारण किया जाता हैं| यह पर्व बिहार व उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता हैं|

जीवित्पुत्रिका व्रत पूजा विधि :-

नहाय खाय (Nahai-khai) :- इस दिन जीवित्पुत्रिका व्रत का पहला दिन कहलाता है, इस दिन से व्रत शुरू होता है। इस दिन महिलायें नहाने के बाद एक बार भोजन करती है। इस व्रत को करते समय केवल सूर्योदय से पहले ही खाया-पिया जाता हैं। सूर्योदय के बाद आपको कुछ भी खाने-पीने की सख्त मनाही होती है। इस व्रत से पहले केवल मीठा भोजन ही किया जाता हैं, तीखा भोजन करना अच्छा नहीं होता। इस दिन कई लोग बहुत सी चीजे खाते हैं, लेकिन खासतौर पर इस दिन झोर भात, नोनी का साग एवम मडुआ की रोटी अथवा मडुआ की रोटी दिन के पहले भोजन में ली जाती हैं, फिर दिन भर कुछ भी नहीं खाया जाता हैं।

खुर जितिया (Khur Jitiya) :- यह जीवित्पुत्रिका व्रत का दूसरा दिन होता हैं, इस दिन महिलायें निर्जला व्रत करती है। यह दिन विशेष होता हैं।

पारण विधि (Paran Vidhi) :- यह जीवित्पुत्रिका व्रत का अंतिम दिन होता हैं। जिउतिया व्रत में कुछ भी खाया या पिया नहीं जाता, इसलिए यह निर्जला व्रत होता है। व्रत का पारण अगले दिन प्रातः काल किया जाता है, जिसके बाद आप कैसा भी भोजन कर सकते है।

घर पर जीवित्पुत्रिका व्रत की पूजा करने की विधि

– आज सुबह स्नान करने के बाद व्रती प्रदोष काल में गाय के गोबर से पूजा स्थल को लीपकर साफ कर लें|

– इसके बाद वहां एक छोटा सा तालाब बना लें|

– तालाब के पास एक पाकड़ की डाल लाकर खड़ाकर कर दें|

– अब शालिवाहन राजा के पुत्र धर्मात्मा जीमूतवाहन की कुशनिर्मित मूर्ति जल के पात्र में स्थापित करें|

– अब उन्हें दीप, धूप, अक्षत, रोली और लाल और पीली रूई से सजाएं|

– अब उन्हें भोग लगाएं|

– अब मिट्टी या गोबर से मादा चील और मादा सियार की प्रतिमा बनाएं|

– दोनों को लाल सिंदूर अर्पित करें|

– अब पुत्र की प्रगति और कुशलता की कामना करें|

– इसके बाद व्रत कथा सुनें या पढ़ें|

ये समाग्री करें जिउतिया माता को अर्पित

16 पेड़ा, 16 दुब की माला, 16 खड़ा चावल, 16 गांठ का धागा, 16 लौंग, 16 इलायची, 16 पान, 16 खड़ी सुपारी, श्रृंगार का सामान मां को अर्पित किया जाता है|

जीवित्पुत्रिका 2020 शुभ मुहूर्त ( Jivitputrika 2020 Shubh Muhurat) :-

यह पर्व 10 सितम्बर 2020 दिन गुरुवार को मनाया जायेगा|

नहाय खाय 2020

नहाय खाय 2020 (Nahay Khay 2020 Date) : 09 सितम्बर 2020 दिन बुधवार

सप्तमी तिथि का प्रारम्भ :- 08 सितम्बर 2020 को 12:02 AM बजे से

सप्तमी तिथि का समापन :- 09 सितम्बर 2020 को 02:05 AM बजे तक

जीवित्पुत्रिका व्रत 2020 

जीवित्पुत्रिका 2020 ( Jivitputrika 2020 Date) :- 10 सितम्बर 2020 दिन गुरुवार

अष्टमी तिथि का प्रारम्भ :- 10 सितम्बर 2020 को 02:05 AM बजे से

अष्टमी तिथि का समापन :- 11 सितम्बर 2020 को 03:34 AM बजे तक

पूजा का शुभ मुहूर्त :- 10 सितम्बर 2020 को 06:00 PM बजे से 11:45 PM तक

कुल अवधि :- 05 घंटा 45 मिनट

व्रत पारण 2020

व्रत पारण 2020 (Jitiya Vrat Paran 2020 Date) :- 11 सितम्बर 2020 दिन शुक्रवार

नवमी तिथि का प्रारम्भ :- 11 सितम्बर 2020 को 03:34 AM बजे से

नवमी तिथि का समापन :- 12 सितम्बर 2020 को 04:19 AM बजे तक

आशा है कि आप सभी को यह जीवित्पुत्रिका 2020 तारीख, पूजा का शुभ मुहूर्त , Jivitputrika 2020 Date का लेख पसंद आया होगा| इस आर्टिकल को अधिक से अधिक फेसबुक और व्हाट्सप्प पर शेयर करें और आपका कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट करके अवश्य बताये| इसी तरह के पोस्ट पढ़ने के लिए हमें सब्सक्राइब करें|

अन्य पढ़े :-

पूजा में आरती करने की सही विधि, Aarti Kaise Kare

महाशिवरात्रि 2021 तारीख, पूजा का शुभ मुहूर्त

गोवर्धन पूजा 2020 तारीख, पूजा का शुभ मुहूर्त | Govardhan Puja 2020 Date

धनतेरस के दिन खरीददारी और पूजा का शुभ मुहूर्त व पूजा विधि | Dhanteras 2020 Date

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here