Home व्रत और त्यौहार Devshayani Ekadashi 2019 Date , देवशयनी एकादशी व्रत 2019, जानें महत्व व...

Devshayani Ekadashi 2019 Date , देवशयनी एकादशी व्रत 2019, जानें महत्व व पूजा विधि

341
0
SHARE

Devshayani Ekadashi 2019 Date , देवशयनी एकादशी व्रत 2019, जानें महत्व व पूजा विधि

devshayani ekadashi 2019, devshayani ekadashi 2019 date, Devshayani Ekadashi kab hai 2019, Devshayani Ekadashi, देवशयनी एकादशी व्रत 2019, देवशयनी एकादशी, Devshayani Ekadashi Puja Vidhi, देवशयनी एकादशी कब है 2019,देवशयनी एकादशी व्रत शुभ मुहूर्त

Devshayani Ekadashi 2019 Date : हिन्दू धर्म में देवशयनी एकादशी को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है| दोस्तों आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी के नाम से जाना जाता है| देवशयनी एकादशी को हरिशयनी एकादशी व पदनाभा एकादशी या प्रबोधनी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है| सभी उपवासों में देवशयनी एकादशी व्रत को श्रेष्ठ कहा गया है| इस व्रत को करने से भगतों की सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती है तथा समस्त पापों का नाश होता है| इस दिन भगवान विष्णु की पूजा का महत्व है|

देवशयनी एकादशी व्रत का महत्व (Importance of Devshayani Ekadashi Vrat)

कहा जाता है कि इस दिन भगवान विष्णु 4 महीने के लिए पाताल लोक में चले जाते है| और इसी दिन से भगवान विष्णु का शयनकाल प्रारम्भ हो जाता है| देवशयनी एकादशी से लेकर अगले 4 महीनों तक भगवान विष्णु योगनिद्रा में चले जाते है जो कि देवउठनी एकादशी पर समाप्त होता है| आषाढ़ मास से कार्तिक मास के मध्य के समय को चातुर्मास कहते है| इसलिए इन 4 महीनों में किसी भी प्रकार के मांगलिक कार्य नहीं किये जाते है| इस दौरान यज्ञोपवीत संस्कार विवाह, ग्रहप्रवेश, भवन निर्माण आदि जैसे शुभ कार्य करना वर्जित है|

देवशयनी एकादशी व्रत पूजा विधि (Devshayani Ekadashi Puja Vidhi)

देवशयनी एकादशी व्रत की शुरुवात दशमी तिथि की रात्रि से ही हो जाती है| दशमी तिथि की रात्रि के भोजन में किसी भी प्रकार का तामसिक प्रवत्ति का भोजन नहीं होना चाहिए और भोजन में नमक का प्रयोग करने से व्रत के शुभ फलों में कमी होती है| यह व्रत दशमी तिथि की रात्रि से लेकर द्वादशी तिथि के प्रात: काल तक चलता है|

एकादशी तिथि के दिन प्रात: काल उठकर नित्यकर्मों से निवृत्त होकर घर की साफ़ सफाई करें, इसके बाद पुरे घर को गंगाजल छिड़क कर पवित्र कर ले| इस दिन स्वच्छ पीले रंग के वस्त्र धारण करें फिर भगवान विष्णु की पूजा करें| सबसे पहले पूजा स्थल पर श्री हरि विष्णु की सोने, चांदी, तांबे या पीतल की मूर्ति की स्थापना करें यदि आपके पास धातू की मूर्ति नहीं है तो मिट्टी की भी मूर्ति स्थापित कर सकते है| इसके बाद जल, पीले फूल, फल, मेवा, मिष्ठान और पंचामृत का भोग लगाए और विष्णुजी को तुलसी दल अर्पित करें| क्योंकि विष्णुजी को तुलसी अत्यधिक प्रिय है| तत्पश्चात भगवान को ताम्बूल, पुंगीफल अर्पित करें और धूप दीप जलाए| तत्पच्यात श्री हरी विष्णु के मंत्र ॐ भगवते वासुदेवाय नमः का जाप करें| पूजा के बाद व्रत कथा सुनना भी शुभ माना जाता है इसके बाद आरती करके प्रसाद वितरण करें|

इस दिन रात्रि जागरण करें, विष्णु मंदिर जाकर भजन कीर्तन करने से पुण्य फल की प्राप्ति होती है फिर दूसरे दिन द्वादशी को स्नान, दान करके व्रत का पारण करें| इस व्रत को करने से सारे मनोरथ पूर्ण होने का आशीर्वाद मिलता है|

देवशयनी एकादशी कब है 2019 (Devshayani Ekadashi 2019 Date)

देवशयनी एकादशी आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को मनाई जाती है| कुछ लोग इसे हरिशयनी एकादशी, पदनाभा एकादशी या प्रबोधनी एकादशी भी कहते है| इस साल देवशयनी एकादशी का पर्व 12 जुलाई को मनाया जायेगा|

देवशयनी एकादशी व्रत शुभ मुहूर्त 2019 (Devshayani Ekadashi Vrat Shubh Muhurat 2019)

साल 2019 में देवशयनी एकादशी व्रत 12 जुलाई 2019 दिन शुक्रवार को मनाई जाएगी|

एकादशी तिथि का प्रारम्भ – 12 जुलाई 2019 को रात 01:02 बजे से

एकादशी तिथि का समापन – 13 जुलाई 2019 को रात 12:31 बजे से

व्रत पारण का समय – 13 जुलाई 2019 को सुबह 06:30 से 08:17 बजे तक

आशा है कि आप सभी को यह Devshayani Ekadashi 2019, Devshayani Ekadashi 2019 Date, देवशयनी एकादशी कब है 2019 का लेख पसंद आया होगा| इस आर्टिकल को अधिक से अधिक फेसबुक और व्हाट्सप्प पर शेयर करें और आपका कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट करके अवश्य बताये| इसी तरह के पोस्ट पढ़ने के लिए हमें सब्सक्राइब करें|

अन्य पढ़े :-

Sawan Somwar Vrat 2019 Dates, जानें कब से शुरू होंगे सावन सोमवार व्रत 2019

पूजा में आरती करने की सही विधि, Aarti Kaise Kare

16-17 जुलाई 2019 चंद्र ग्रहण, जानें किस समय और कहाँ दिखाई देगा, सम्पूर्ण जानकारी

2019 सावन शिवरात्रि कब है, जानें व्रत का महत्व और शुभ मुहूर्त

Ashad Gupt Navratri 2019, आषाढ़ गुप्त नवरात्रि कब है 2019, कैसे करें नौ देवियों को प्रसन्न, जानें सरल पूजा विधि

दशहरा 2019 कब है, जानें विजयादशमी शुभ मुहूर्त व महत्व

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here