Home व्रत और त्यौहार Amalaki Ekadashi 2020 Date : आमलकी एकादशी, जानें महत्व और पूजा विधि

Amalaki Ekadashi 2020 Date : आमलकी एकादशी, जानें महत्व और पूजा विधि

91
0
SHARE

Amalaki Ekadashi 2020 Date : आमलकी एकादशी, जानें महत्व और पूजा विधि

आमलकी एकादशी, amalaki ekadashi 2020, amalaki ekadashi 2020 date, amla ekadashi kab hai, आँवला एकादशी

Amalaki Ekadashi 2020 Date : यह फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को मनाई जाती है| यह एकादशी व्रत अत्यंत श्रेष्ठ है|आमलकी का मतलब आँवला होता है, आँवला का वृक्ष भगवान विष्णु को अत्यंत प्रिय है| आंवले के पेड़ में भी देवताओं का वास होता है| आमलकी एकादशी का व्रत करने से सभी यज्ञों के बराबर फल मिलता है| इस व्रत में आंवले के वृक्ष की पूजा करने का विधान है| साथ ही एकादशी के दिन भगवान विष्णु का पूजन विशेष रूप से किया जाता है| इसलिए इस दिन  खासतौर से विष्णु जी की पूजा में आंवले को शामिल किया जाता है| इस दिन जो व्यक्ति आँवला खाता है, उसे पुण्य फल की प्राप्ति होती है|

आँवला से जुडी खास बातें 

आंवले के वृक्ष के बारें में विष्णु पुराण के अनुसार एक बार भगवान विष्णु के थूकने पर उनके मुख से चन्द्रमा के समान एक बिंदु प्रकट होकर पृथ्वी पर गिरा, उसी बिंदु से आमलक यानि आँवला के महान वृक्ष की उत्पत्ति हुई| यही कारण है कि विष्णु जी की पूजा में इस फल का प्रयोग किया जाता है| इस व्रत का पुण्य एक हजार गौदान के फल के बराबर है| जो व्यक्ति व्रत नहीं करते है वो भी इस दिन भगवान विष्णु को आँवला अर्पित करें और स्वयं भी खाये, इससे पुण्य फल की प्राप्ति होती है|

आमलकी एकादशी व्रत पूजा विधि (Amalaki Ekadashi Puja Vidhi)

आँवला एकादशी के दिन सुबह उठकर स्न्नान करके भगवान विष्णु जी की मूर्ति या फोटो के सामने बैठकर हाथ में तिल, कुश, मुद्रा यानि दक्षिणा और जल लेकर व्रत का संकल्प करें, तत्पश्चात भगवान विष्णु की विधिवत पूजा करें, और इसके बाद आंवले के वृक्ष की पूजा करें| सबसे पहले वृक्ष के चारों ओर की भूमि को साफ़ सुथरा करें, और उसे गाय के गोबर से या गंगाजल छिड़क कर पवित्र कर लें| पेड़ की जड़ में एक वेदी बनाकर उसपर एक कलश स्थापित करें| कलश में सुगंधी और पंचरत्न रखें, इसके ऊपर पांच पल्लव यानि पांच आम के पत्ते रखें फिर दीपक जलाकर रखें| कलश पर चन्दन का लेप लगाए, एवं वस्त्र पहनाये, इसके बाद विष्णु जी के छठे अवतार परशुराम जी की स्वर्ण या मिट्टी की मूर्ति स्थापित करें और विधिवत रूप से पूजा करें| रात्रि जागरण कर भजन और कीर्तन करें|

फिर अगले दिन यानि द्वादशी को स्न्नान कर विष्णु जी की पूजा कर ब्राह्मण को भोजन करवाकर दान दक्षिणा देकर साथ ही परशुराम जी की मूर्ति सहित कलश भेंट करें इसके पश्चात ही व्रत का परायण कर भोजन ग्रहण करें|

आमलकी एकादशी कब है 2020 (Amalaki Ekadashi 2020 Date)

आमलकी एकादशी फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को मनाई जाती है| इस साल आमलकी एकादशी का पर्व 6 मार्च को मनाया जायेगा|

आमलकी एकादशी व्रत शुभ मुहूर्त 2020 (Amalaki Ekadashi Vrat Shubh Muhurat 2020)

साल 2020 में आमलकी एकादशी व्रत 6 मार्च 2020 दिन शुक्रवार को मनाई जाएगी|

एकादशी तिथि का प्रारम्भ – 5 मार्च 2020 को 01:18 AM

एकादशी तिथि का समापन – 6 मार्च 2020 को 11:47 AM

व्रत पारण का समय – 7 मार्च 2020 को सुबह 06:39 से 09:01 बजे तक

अवधि – 2 घंटा 21 मिनट

आशा है कि आप सभी को यह Amalaki Ekadashi 2020, Amalaki Ekadashi 2020 Date, आमलकी एकादशी कब है 2020 का लेख पसंद आया होगा| इस आर्टिकल को अधिक से अधिक फेसबुक और व्हाट्सप्प पर शेयर करें और आपका कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट करके अवश्य बताये| इसी तरह के पोस्ट पढ़ने के लिए हमें सब्सक्राइब करें|

अन्य पढ़े :-

2020 रक्षाबंधन तिथि व राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

होलाष्टक 2020, होलाष्टक पर भूलकर भी ना करें ये काम, Holashtak 2020 Date

2020 करवा चौथ व्रत : जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त और चाँद निकलने का समय

घर में तिजोरी रखे इस दिशा में छप्पर फाड़ कर बरसेगा पैसा

2020 वट सावित्री व्रत तिथि व शुभ मुहूर्त

झाड़ू को घर में रखें इस स्थान पर, बरसेगा पैसा ही पैसा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here